...

1Shayari

Rank 6 211 points


July 21, 2020


પ્રેમ માં મીઠી વેદના મળી એ બહુ છે સ્વપ્નો ને નવી દિશા મળી એ બહુ છે પ્રેમ પૂરો થયો કે અધુરો રાય્હો વાત એ નથી પ્રેમ કરવાનો અવસર મળ્યો એ બહુ છે…

July 23, 2016


कुछ इस तरह बुनेंगे अपनी तकदीर के धागे. . . अच्छे अच्छे को ‬झुकना पड़ेगा BHAI के आगे...

July 23, 2016


'' दम कपड़ों में नहीं , जीगर में रखो , बात कपड़ों में होती तो , सफेद कफन में लीपटा मुर्दा भी '' सुलतान मिर्ज़ा '' होता . . । ''

July 23, 2016


' नजर जुका कै बात कर पगली , जीतने तेरे पास कपडे नही हौंगे , उतनै तौ मै रोज लफडे करता हू . '

July 23, 2016


' સમજાતી નથી જીંદગી ની રીત . . એક બાજુ કહે છે કે ધીરજ ના ફળ મીઠા હોય છે અને બીજી બાજુ ? સમય કોઇની રાહ જોતો નથી '

July 23, 2016


' મારા સ્વપ્ન ઉપર એ હસી . . પણ . . મારું સ્વપ્ન જ . . એનું હાસ્ય હતું . . '

July 23, 2016


वो_थी , , वो_हे_और_वो ही_हमेशा_रहेगी , , जब_दिल एक_हे_तो , , दिल में रहने वाली भी तो एक ही होगी

July 23, 2016


' हम अपनी मर्जी के शेहजादे हैँ , , फिर बात हो अपने जिने की , , या फिर तुम पर मरने की . . '

July 23, 2016


अगर जाना हो कभी हमसे दूर आप को , तो पहले बिना साँस लिए जीना सीखा देना . .

July 23, 2016


' तु मिल गई है तो मुझ पे नाराज है खुदा.. कहता है की तु अब कुछ माँगता नहीं है..!! '

July 23, 2016


'' शादी से पहले '' भगवान '' से माँगा था, '' अच्छी '' पकाने '' वाली देना ..!! '' जल्दबाजी में '' खाना '' बोलना ही भूल गया ..! '' 😛 😛 😛

July 23, 2016


अपनी ओकाद देखकर स्टाईल मारा कर पगली , जितना तेरे अकेली का वजन है , उससे कई ज्यादा तो मेरे बाप कि Property के कागजो का हे.

July 23, 2016


इनकार किया जिन्होंने मेरा समय देखकर , वादा है एसा समय लाऊंगा , की मुझसे मिलने का भी समय लेना पड़ेगा उन्हें !

July 23, 2016


हमारे लिए अपने हार्ट में जगह रखिये, माइंड में नहीं ! हमें माइंड में रखना खतरनाक हो सकता है , क्यूंकि हम माइंड ब्लोइंग हैं ! !

July 23, 2016


' જીંદગીના નિયમો પણ કંઈક કબડ્ડી જેવા છે , જેવી સફળતાની લાઈન ટચ કરો કે લોકો તમારો પગ ખેંચવા લાગી જાય . '

July 23, 2016


' લડી લેવું જ્યાં સુધી હૃદય માં થોડી ઘણી હોપ હોય , છો ને પછી સામે ગમે તેવી મોટી તોપ હોય ! ! '

July 23, 2016


हिम्मत इतनी तो नहीं के तुझे दुनिया से छीन लु , लेकिन मेरे दिल से कोई तुझे निकाले , इतना हक तो मैंने खुद को भी नहीं दिया . . ! !

July 23, 2016


खुश्बू कैसे ना आए मेरी बातो से यारो , मैने बरसो से एक ही फुल से महोब्बत की है ।

July 23, 2016


' मंजिल ना मिले वंहा तक हिम्मत मत हारो और ना ही ठहरो. क्यों की पहाड़ से निकलने वाली नदियों ने आज तक रास्ते में किसीको नहीं पूछा के भाई समन्दर कितना दूर है '

July 23, 2016


" समय " न लगाओ तय करने में , आप को करना क्या है . . . ? वरना " समय " तय कर लेगा कि , आपका क्या करना है . . . !