devani.umesh


तेरी जुदाई का शिकवा करूँ भी तो किससे करूँ।... यहाँ तो हर कोई अब भी मुझे तेरा समझता हैं।..
 804views
0Like(s)   0Dislike(s)  
Share  

You may also like