devani.umesh


सीढ़ियां उन्हे मुबारक हो, जिन्हे छत तक जाना है...!!! मेरी मंज़िल तो आसमान है, रास्ता मुझे खुद बनाना है...
 2695views
0Like(s)   0Dislike(s)  
Share