chandresh.devani


फिर आज कोई गज़ल तेरे नाम हो जाये,
कहीं लिखते लिखते शाम ना हो जाये,
कर रहे है इंतज़ार तेरी मोहब्बत का,
इसी इंतज़ार में ज़िंदगी तमाम ना हो जाये !!!

CD's

 505views
0Like(s)   0Dislike(s)  
Share