hdmavani


ये रस्म, ये रिवाज, ये कारोबार वफ़ाओं का सब छोड़ आना तुम;
मेरे बिखरने से जरा पहले लौट आना तुम।

 548views
0Like(s)   0Dislike(s)  
Share