devani.umesh


ज़िंदा रहने का.....कुछ ऐसा 'अन्दाज़' रखो.....!!

जो तुमको ना समझे.....उन्हें 'नज़रंदाज' रखो....

 831views
0Like(s)   0Dislike(s)  
Share