hdmavani


दुआ कौन सी थी हमे याद नही बस इतना याद है,
दो हथेलियाँ जुड़ी थी एक तेरी थी एक मेरी थी.....

 110views
0Like(s)   0Dislike(s)  
Share